हैलो रायपुर
Hello Raipur
Reflection of Chhattisgarh
Home Health & Fitness

पीलिया (हैपेटाईटिस) का इलाज - पारम्परिक विधि से


हैपेटाईटिस वास्तव में लीवर की संक्रमण से पैदा हुई खराबी है जिसे हम पीलिया के नाम से जानते हैं। अलग-अलग प्रकार के वायरस या रोगाणुओं से पैदा पीलिया को आधुनिक चिकित्सकों ने पहचान करके अलग-अलग नाम देने का काम किया है, पर विश्र्वास रखें की इलाज किसी भी प्रकार के पीलिया या हैपेटाईटिस का उनके (एलोपैथी) के लिये सम्भव नहीं। अभी तक इसका कोई प्राभाव दवा आधुनिक विज्ञान नहीं बना पाया है। इसके विपरीत भारतीय पारम्पारिक चिकित्सा में इसके अनेक सरल पर पक्के इलाज हैं। हैपेटाइटिस.ए, बी, सी, आदि जो भी हो वे सब निश्चित रूप से ठीक हो सकते हैं।रोगी में पीलिया के लक्षण नजर आने पर परहेज करवाते हुए निम्न में से कोई एक इलाज करें, प्रु कृपा से वह ठीक हो जाएगा.
गुम्मा नामक (शेण पुष्पी) पौधे को पहचानते हों तो उसका एक चम्मच चूर्ण मिट्टी के बर्तन में १०० मि.ली. पानी डालकर भिगो दें। प्रातरू मसल व छानकर रोगी को पिलाएं तथा प्रातरू भिगोकर रात को पिला दें। ५.७ दिन में रोगी ठीक हो जाएगा। थोड़ा शहद और चने के दाने जितना कपूर मिलाकर देने से प्राव अधिक होगा। चूने का पानी २.२ चम्मच दिन में ३ बार रोगी को पिलाएं यही पानी १०.१५ दिन तक देते रहें। अन्य दवाओं के साथ भि इस प्रयोग को कर सकते हैं।
पीली हरड का चूर्ण एक चम्मच तथा शहद या पुराना गुड (रसायनों से रहित) दिन में २.३ बार दें। असाध्य पीलिया पर ी काम करेगा। ६ मास में एक बार ७ दिन तक इसका प्रयोग करते रहेंए उल्टा-सीधा न खाएं (चायए कॉफी, जंक फूड ) तो अम्ल पित्ता (हाईपर ऐसिडिटीए खट्टा पानी आना, बदहजमी) पूरी तरह सदा के लिए ठीक हो जाएगी।श्योनाक (टाटबडंगा, अरलू, तलवार फली) की छाल १५०.२०० ग्राम चूर्ण २००.२५० मि.ली. पानी में मिट्टी के पात्र में भिगोकर रोज प्रात: दोपहर, सांय ३ बार में पिला दें। रोज नया चूर्ण भिगोएं। ३.४ दिन में रोगी ठीक हो जाता है। थोड़ा मीठा (खाण्ड-मिश्री) मिलाकर देना अधिक लादायक होगा।
योग सन्देश में छपे लेख के अनुसार सिक्किम के एडीशनल कमीश्र्नर-एक्साईज एम के प्रधान के अनुसार श्योनाक का एक अन्य प्रमाणिक प्रयोग इस प्रकार है रू. उपरोक्त प्रकार से १५०ग्रा० श्योनाक की छाल १५०.२०० मि.ली. पानी में रात को भिगो दें। प्रातरू २०० मि.ग्राण् (२ काले चने के बराबर) शुध्द कपूर पानी से निगलकर ३० मिनट बाद श्योनाक का पानी छानकर पीने से १ या अधिक से अधिक ३ या ४ दिन में असाध्य पीलिया या ''हैपेटाईटिस.बी'' तक ठीक हो जाता है।

Tags :
पीलिया(हैपेटाईटिस)इलाजपारम्परिकविधि

जूस थेरपी - बीमारियाँ दूर करे, फ्रेशनेस बढाए हकलाहट एवं कम सुनाई देना लाइलाज नहीं Sugar Triggers the Functioning of Antibiotics केक, कुकी, जैम और जैली खाने से याददाश्त होती है कमजोर सरल घरेलू नुस्खे आजमाएँ दिमाग को रखिए दुरुस्त कैंसर का कारण हो सकती है आक्सीजन की कमी ककड़ी में हैं अनेक खूबियाँ पीलिया (हैपेटाईटिस) का इलाज - पारम्परिक विधि से मुख के छालों का घरेलु निदान हिरुडोथेरेपी ताली पीटकर गाएँ ब्लड प्रेशर को बहुत उपयोगी घरेलू उपचार क्या आप पफी आईज से परेशान हैं अब बच्चों में भी पित्त की पथरी के लक्षण वेट लॉस के फर्जी फंडों की असलियत बारिश में भीगें मगर सावधानी बरतें दही एक..फायदे अनेक समझें बीमारी के इशारे.... तब डॉक्‍टर रानियों का कुछ इस तरह करते थे इलाज
1 | 2 | 3 | 4 | 5 | 6 | 7 | 8 | 9 |
Contact Us | Sitemap Copyright 2007-2012 Helloraipur.com All Rights Reserved by Chhattisgarh infoline || Concept & Editor- Madhur Chitalangia ||